उत्तरप्रदेशदेश

भीषण गर्मी में बिजली की कटौती से लोग परेशान, सिंचाई बाधित

सन्दना/सीतापुर

  • गांव से लेकर कस्बे तक 18 घंटे बिजली कटौती बनी मुसीबत
  • लोकल फाल्ट ने और बढ़ाई उपभोक्ताओं की मुश्किल

तापमान लगातार बढ़ रहा है। इस बीच भीषण गर्मी के साथ ही क्षेत्र में विद्युत संकट भी गहरा गया है। कस्बे से लेकर गांव तक 18 घंटे की बिजली कटौती से उपभोक्ताओं को मुसीबत झेलनी पड़ रही है। साथ ही लोकल फाल्ट और लो वोल्टेज की समस्या ने उपभोक्ताओं की मुसीबत और बढ़ गयी है। जिससे उपभोक्ताओं का आक्रोश बढ़ रहा है।

बुधवार को अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इससे गर्मी से लोग बेहाल हैं। इस बीच अघोषित कटौती बढ़ गई है। वैसे शासन का निर्देश है कि ग्रामीण क्षेत्र को 18 से 20 घंटे बिजली सप्लाई दी जाए, लेकिन कई दिनों से कस्बे से लेकर गांव तक बिजली कटौती इस कदर हो गयी है कि ग्रामीण क्षेत्र में महज 6 से 8 घंटे ही बिजली आपूर्ति हो रही है। दिन व रात में आपूर्ति बाधित रहती है। जिससे पेयजल आपूर्ति प्रभावित हो जा रही है, वहीं लोग गर्मी से जूझने के लिए मजबूर हैं। कटौती के बीच लोकल फाल्ट की समस्या भी बढ़ गई है। लो वोल्टेज आने के कारण कोई उपकरण नही चलते है।


सरवा-सन्दना विद्युत उपकेंद्र में आए दिन खराबी और अघोषित बिजली कटौती से कृषि कार्य प्रभावित होने से किसानों का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है, कब बिजली आ रही है कब गुल हो जा रही है पता नहीं चल पा रहा है। क्षेत्र के वीरेंद्र शुक्ला, कमलेश त्रिपाठी, भानु प्रताप सिंह ने कहा कि कम बिजली मिलने से सिंचाई का कार्य नहीं हो पा रहा है। बिजली की आंख मिचौली से एक बीघे खेत की सिंचाई करने में कई दिन लग जा रहा है।


सन्दना निवासी रोहित त्रिपाठी, आलोक त्रिपाठी, सीटू अवस्थी, केशन गुप्ता, आशीष शुक्ला, रोहित गुप्ता का कहना है कि रात्रि के समय बिजली गुल हो जाने से नींद पूरी नहीं हो पा रही है। जून का महीना है और गर्मी चरम पर है। बिजली कटौती बढ़ने से लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि लोकल फाल्ट व लो वोल्टेज की समस्या से निजात के साथ ही बिजली आपूर्ति में सुुधार किया जाए। सरवा-सन्दना पावर हाउस का सीयूजी नम्बर बन्द रहता है।
इस सन्दर्भ मे जब बिजली विभाग अधिकारी जेई से बात करने का प्रयास किया तो उनका नंबर बंद जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!